kids fairy tales Thumbelina fairytale in hindi kids hindi short stories2020.

Thumbelina.A beautiful girl thumb size.

Hindikahaniblog.com

Thumbelina👸

                       (KIsds short stories)

Fairytale stories in hindi.🎅B

बहुत पुराने समय की बात है। एक औरत थी। उसकी दिली इच्छा थी क़ि उसके पास एक छोटा बच्चा हो,लेकिन उसकी इच्छा पूरी नहीं हुई। तब वो एक चुड़ैल के पास गई और बोली
" मैं चाहती हूँ मेरे पास एक छोटा बच्चा हो, क्या तुम मुझे बता सकती हो ये कैसे सम्भव होगा ।"
 " ओह ये तो बड़ा आसान है।" चुड़ैल के कहा।" ये अलग तरह की जौ के बीज़ हैं । खेतो में जो, जौ की बालियां उगती हैं जिन्हें मुर्गियां खाती हैं। इन जौ के बीजों को एक फूलदान (flowerpot) में रख दो फिर असर देखो।

Fairytale stories.🙋

औरत बहुत खुश हुई उसने जौ के बीज ले लिए और चुड़ैल को 12 शडलिंग्स दिए जो क़ि बीजों की कीमत थी। औरत ने घर आ कर चुड़ैल के कहे अनुसार बीजों को फूलदान में बो दिया।कुछ ही दिनों में उसमे एक बहुत ही सूंदर फूल वाला पौधा उग आया जो क़ि ट्यूलिप के फूल जैसा लग रहा था। फूल की पंखुड़ियां बंद थी और वो एक सूंदर कली जैसा लग रहा था।औरत के मुँह से निकला " ओह ये तो बहुत सूंदर है " और उसने कली की लाल और सुनहरी पंखुड़ियों को चूम लिया। उसके ऐसा करते ही फूल खुलने लगा और अब वो एक खूबसूरत ट्यूलिप के फूल जैसा लग रहा था।

Fairytale in hindi.hindi kids stories.👼

औरत  ने देखा फूल के बिल्कुल बीच में उसके पराग के ऊपर एक छोटी से सूंदर लड़की बैठी हुई है। अखरोट के चमकदार छिल्के से उसका पलंग बना हुआ था।उस पर हरी वेलवेट की पत्तियां बिछी हुई थी। गुलाब की रेशमी पंखुड़ियों से बानी हुई चादर अखरोट शैल पर बिछी हुई थी। लड़की ने अपना नाम "थांबलीना" बताया क्यों कि वो अंगूठे के बराबर थी। ये सब देख कर औरत की ख़ुशी और आश्चर्य का ठिकाना न रहा।

Fairytale stories in hindi.👯

थांबलीना रात में सोती थी लेकिन दिन में वो अधिकतर एक टेबल पर अपना समय बिताती थी जहाँ एक गोल प्लेट में औरत ने पानी भर दिया था और चारो तरफ फूलो का घेरा बना दिया था। पानी के अंदर एक हरे रंग का चमकीला पत्ता बिछा हुआ था जो नाँव का काम करता था। घोड़े के सफेद नाजुक बालो से चप्पू बनाये गए थे। अपनी सुरीली आवाज में गाना गाते हुए थांबलीना पत्ते की नाँव में बैठ कर एक कोने से दूसरे कोने तक घूमती रहती थी।ये एक सुहाना मंजर था।

kids fairy tales Thumbelina fairytale in hindi kids hindi short stories2020.
Best hindi fairytale
एक रात थांबलीना अपने सूंदर से बेड पर सो हुई थी। तभी वहाँ खिड़की के टूटे हुए शीशे की दरार से एक बड़ा,बदसूरत और लिजलिजा मेढक अंदर आ गया। उसने अखरोट के छोटे से बेड में झाँक कर देखा । जहाँ थांबलीना सोई हुई थी।इतनी प्यारी सी थांबलीना को देखा कर वो सोचने लगा क्यों न में इसकी शादी अपने बेटे से करवा दूँ।
Fairytale in hindi.💜
मेढक के पीछे उसका बेटा भी आ गया। ये मेढ़को का परिवार थोड़ी ही दूरी पर गार्डन में बने एक छोटे से पोंड में रहते थे। इतनी प्यारी थांबलीना को देख कर मेढक का बेटा जोर जोर से टर्राने लगा। जो अपनी माँ की तरह ही बदसूरत था।
Fairytale.💞
उसकी माँ ने कहा इतनी जोर जोर से मत बोलो बर्ना ये जाग जायेगी और यहाँ से भाग भी सकती है क्योंकि ये पंख के सामान हलकी है। इसे हम वाटर लिली के फूल पर रखेगें। वहा से कही जा नहीं पायेगी फिर इसके लिये हम पोंड के अंदर कमरा बना देगें जहाँ तुम दोनों रहना।

पोंड में दूर दूर तक सूंदर वाटर लिली के फूल खिले हुए थे। मेंढ़क और उसके बेटे ने थांबलीना को उसके अखरोट के बेड समेत ही वाटर लिली के फूल के ऊपर रख दिया। जब उसकी आँख खुली तो चारो तरफ पानी ही पानी था।वो फूट-फूट कर रोने लगी।
Fairytale💝
उधर मेढक का परिवार पोंड के अंदर कमरे को पीले सुंदर फूलों से सजाने में लगे हुये थे। ताकि थांबलीना को बहु बना कर उस घर में ला सकें। मेंढक माँ और उसका बेटा पानी में तैरते हुए उसके पास आये और मेढक बोली- ये तुम्हारा होने वाला पति।तुम दोनों यहाँ ख़ुशी से रहोगे।
Fairytale in hindi🍁
मेंढ़क का बदमाश बेटा थांबलीना का अखरोट वाला बेड उठा कर पानी में तैरने निकल पड़ा।वो उस हरे पत्ते प् अकेली रह गई। उस बदसूरत मेढ़क के साथ शादी करने के बारे में वो सोच भी नहीं सकती थी। छोटी नन्ही मछलियां जो पानी के ताल में तैर रही थी उन्होंने अपना सिर पानी से निकाल कर बाहर देखा। उन्होंने सारी बातें सुनी थी।इतनी सुन्दर थांबलीना को देख कर वो सब इक्कठी हुई और बोली वो ऐसा नही होने देंगी। सब ने हरे पत्ते के डंठल की अपने मुँह में दबाया और पानी में तैरने लगी और बहुत दूर निकल गई।

रास्ते में कई गाँव और कस्बे निकले लेकिन माँछलिया पत्ते को खीचती हुई आगे बढ़ती गई। रस्ते में उन्हें कई पंछी भी मिले। इस सुन्दर तितली लगातार थांबलीना के आगे पीछे फड़फड़ा रही थी।थांबलीना को वो बहुत प्यारी लगी।अब वो ये सोच कर खुश थी क़ि मेंढक का परिवार उस तक नहीं पहुँच सकता था। उसने अपनी कमर से चमकदार बेल्ट को निकल और उसका एक छोर तितली के पैरों से बांध दिया और दूसरा पत्ती के साथ बांध दिया। तभी एक बड़ी चिड़िया वहाँ उड़ती हुई आई और थांबलीना को कमर से उठा कर पेड़ पर ले गई। हरी पत्ती तितली के साथ पानी में ही रह गई।

Fairytale stories💐

थांबलीना डर से  काँपने लगी।लेकिन उसे अपने से ज्यादा तितली के लिये डर लग रहा था। अगर वो अपने आप को आज़ाद ना करवा पाई तो भूखी ही रह जायेगी। बड़ी चिड़िया ने थांबलीना को एक बड़े हरे पत्ते पर बिठाया और उसे शहद खाने को दिया जो फूलो के रस से निकाला गया था।
Kids short stories🎂
बड़ी चिड़िया ने कहा " तुम कितनी सुन्दर हो जितना क़ि मैं नहीं हूँ " थोड़ी ही देर में वहाँ बहुत सारी बड़ी चिड़िया अपने बड़े पंख फैला कर उनके चारो तरफ उड़ने लगी। और बोली-इसकी तो दो ही टांगे हैं ..कितनी बदसूरत है ये..दूसरी बोली- ये तो उड़ भी नहीं सकती..तीसरी बोली - इसकी कमर कितनी पतली है बिल्कुल इंसानो जैसी.."

"ओह , ये कितनी बदसूरत है.."सब एक साथ बोली।ये सुन कर बड़ी चिड़िया उसे पेड़ से ले कर उड़ गई और उसे एक डहलियें के फूल पर रख दिया और खा की वो कही भी जा सकती है ये कह कर चिड़िया उड़ गई । थांबलीना रोने लगी।ये सोच कर क़ि वो सच में बहुत बदसूरत है।जबकि वो दुनिया में सब से खूबसूरत थी|
Fairytale in hindi,kids short stories.💐

पूरी गर्मियां छोटी थांबलीना ने अकेले जंगल में बिताई।उसने हरी घाँस का एक बिछौना बनाया और उसे क्लोव के फूल पर तंग दिया जिसके नीचे वो सुरक्षित थी। उसने फूलो का शहद खाया और पत्तो पर सुबह गिरने वाली ओस से अपनी प्यास बुझाई। सुन्दर छोटे पक्षियों के साथ गाना गाते हुए उसका बसंत और गर्मियों का मौसम गुजर गया।

अब सर्दियों का मौसम आ गया। सब पंछी गर्म स्थानों की तरफ उड़ गए।थांबलीना अकेली रह गई।जिस क्लोव के फूल पर उसने अपना घर बनाया था।वो भी मुर्झा कर बंद हो गया।अब सिर्फ उसका पीला डंठल ही नज़र आ रहा था।
Kids short stories.👦

थांबलीना सर्दी से जमी जा रही थी।उसकी ड्रेस फट गई थी। बर्फ गिरने लगी थी। बर्फ के नाजुक कण उसके लिए बिलकुल ऐसे थे जैसे हमारे लिये तसला भर बर्फ। वो अंगूठे के बराबर जो थी।उसके साथ गाना गाने वाले सब संगी साथी उड़ चुके थे।

वो सर्दी से कॉप रही थी।उसने खुद को समेटा और एक सूखे पत्ते पर बैठ गई लेकिन पत्ता बीच से करैक था सो उसे बहुत सर्दी लग रही थी।
Kids bedtime stories✍
वो जहाँ रह रही थी उसके पास ही मकई का खेत था।लेकिन मकई कब की कट चुकी थी। अब ठूठ ही बचा रह गया था। मकई के ठूठ के नीचे एक चूहा बिल बना कर रहता था।जिसके पास सर्दी से बचने के लिए गर्म घर और खाने के क लिये ढेर सारी मकई थी।

थांबलीना चूहे के घर तक बड़ी मुश्किल से पहुँची और दरवाजा खटखटाया।वो बड़ी दयनीय हालत में थी।और बहुत कमजोर महसूस कर रही थी।दो दिनों से उसने कुछ खाया भी नहीं था।

" ओह प्यारी छोटी बच्ची अंदर आओ..मेरा कमरा गर्म है ,आओ मेरे साथ खाना खाओ.." चूहा बहुत अच्छा था और थांबलीना उसे बहुत प्यारी लगी थी। उसने कहा-
" तुम पूरी सर्दियों में यहाँ रह सकती हो ,लेकिन तुम्हें मेरा पूरा घर साफ रखना होगा।और मुझे कहानियां भी सुनानी होगी।क्यों क़ि मुझे कहानियां बहुत पसंद है।" थांबलीना के लिये ये सब बड़ा सुखद था।वो वहाँ रहने लगी।
Kids bedtime stories. hindi stories.💚💦

" हम जल्द ही एक मेहमान से मिलेेगे जो  मुुुहेे हफ्ते में एक बार किसी काम की पेमेंट करता है ..वो बहुुत अमीर है...अगर तुम चाहो तो उसे अपना पति बना सकती हो, लेेेक़िन वो देख नहीं सकता..तुम्हे उसे कहानीया सुुुनानी होगी ।"

लेकिन नन्ही थांबलीना उस अमीर पड़ोसी में कोई दिलचस्पी नहीं थी। वो एक छछूंदर था।उसने वेलवेट का काला कोट पहना हुआ था। उसने चूहे को पैसे दे दिये।
" इनका घर मेरे घर से 20 गुना बड़ा है और ये बहुत अमीर है " चूहे ने कहा।
Fairytale😇

छुछुंदर भले ही बड़ा अमीर था।वो देख नहीं सकता था लेकिन सूरजमुखी के फूल की तरह हर वक़्त सूरज की रौशनी की तरफ अपनी गर्दन किये रहता था। थांबलीना ने उसे सुन्दर सुरीले गाने सुनाये। वो थांबलीना को उसकी सुरीली आवाज की वजह से पसंद करने लगा। छुछुंदर ने चूहे के घर से ले कर बहुत दूर तक एक सुरंग खोदी थी।और वो थांबलीना के साथ वहाँ घूमने जाना चाहता था।

उसने थांबलीना को कहा- अगर तुम्हें रास्ते में कोई मरी हुई चिड़िया दिखाई दे तो डरना मत और उसने फस्फोरेंट लकड़ी को अपने मुँह में पकड़ लिया और अँधेरे रास्ते में रौशनी हो गई।

उन्हें रास्ते में एक मरा हुआ पक्षी मिला। छुछुंदर ने उसे अपने पैरो से एक गढे में धकेल दिया ये देख कर थांबलीना को बहुत दुःख हुआ। उसे पक्षियों से प्यार था। इन पक्षियों के साथ उसने सुन्दर सुरीले गाने गा कर गर्मियों के दिन बिताये थे। छुछुंदर बोला-अच्छा है मेरा कोई बच्चा पक्षी नहीं होगा वर्ना सर्दियो में भूख और ठण्ड से मर जाता।
Fairytale stories in hindi😎

" तुम ठीक कह रहे हो , इन चिड़ियों के चहचहाने का क्या फायदा सर्दियो में तो इन्होंने मर ही जाना होता है।"
पीछे आते हुए चूहे ने कहा।
छोटी थांबलीना ने उस वक़्त कुछ नहीं कहा।लेकिन जैसे ही वो दोंनो सुरंग के मोड़ से मुड़े थांबलीना ने चिड़िया के मुँह को पंखो से धक् दिया।और प्यार से बोली. " मै आशा करती हूँ क़ि शायद अगली गर्मियों में तुम मुझे फिर सुरीला गाना सुनाओगी।" ऐसा कह कर वो आगे बढ़ गई।

रात होने वाली थी। छुछुंदर ने सुरंग का दरवाजा बंद कर दिया लेकिन थांबलीना को नींद नहीं आ रही थी।उसने घाँस का एक बिछौना बनाया और जा कर पक्षी के ऊपर डाल दिया।उन के कुछ धागों को भी उसने पक्षी के चारो तरफ ढक दिया।फिर उसने पक्षी के सीने पर सिर रख दिया। " मुझे सुरीले गाने सुनाने के लिये धन्यवाद " लेकिन ये क्या पक्षी का दिल धड़क रहा था वो जिन्दा था।
Fairytale in hindi🐦 

सर्दियाँ शुरू होने से पहले सभी पक्षी गर्म देशो की तरफ उड़ जाते हैं।जो नहीं जा पाते वो ठण्ड से बीमार हो जाते हैं। वो सुबह उठी और चिड़िया के पास आई।चिड़िया ने आँखे खोली और बोली- मैं अच्छे से गर्म हो जाऊ, मेरे  शारीर में थोड़ी ताकत आ जाये तो मै भी उड़ जाऊ "
" अभी बाहर ठण्ड है बर्फ जमी हुई है...तुम फ़िक्र मत करो मै तुम्हारी देखभाल करुँगी। "
Kids short stories🐀🐹

थांबलीना फूलो की कटोरी में पानी ले आई। चिड़िया ने पानी पिया और फिर उसने थांबलीना को बताया क़ि उसके नाजुक पंख एक कंटीली झाड़ी में उलझ कर घायल हो गए थे ईएसआई कारण वो तेज़ नहीं उड़ पाई एयर अपने साथियो से बिछुड़ गई।फिर थक कर गिर पड़ी।

थांबलीना ने चिड़िया की खूब सेवा करी।सर्दियां बीतने तक वो वहीँ रही किसी को इसके बारे में पता नहीं चला।अब बसंत आने लगा था।चिड़िया भी अब बिलकुल ठीक हो चुकी थी।थांबलीना ने इस नर्स और दोस्त की तरह उसकी देखभाल की थी।लेकिन अब बिदाई का समय था। चिड़िया ने थांबलीना को कहा - "आओ मेरे पीठ पर बैठ जाओ मै तुम्हे यहाँ से दूर ले जाती हूँ "
लेकिन थांबलीना जानती थी क़ि इस तरह बिना बताये अगर वो चली गई तो चूहा उदास हो जायेगा।उसने मना कर दिया। थांबलीना ने धीरे से सुरंग का दरवाजा खोला ।चिड़िया "अलबिदा नन्ही थांबलीना,फिर मिलेगें कहती हुई उड़ गई।"
थांबलीना की आँखों में आंसू आ गए। उसे चिड़िया से लगाव हो गया था।

अब फिर से खेत हरे हो गए थे।मकई की बालियां फिर से झूमने लगी थी।चूहा उछल कर मकई तोड़ लेता था।लेकिन बेचारी थांबलीना तो छोटी थी। उसका हाथ नहीं जाता था।तब चूहे ने उसे कहा- " तुम्हे किसी के साथ की जरुरत है... छछूंदर तुम से शादी करना चाहता है ..उसने तुम्हारे लिए रेशम और वुलेन की ड्रेस भी बनवाई है..तुम्हें उससे शादी कर लेनी चाहिए। "
Fairytale stories in hindi🐾🐦🐣


चूहे ने चार मकड़ीयो को काम पर रखा जो दिन रात बुनाई करती रहती थी। छुछुंदर उनका काम देखने आता था।और दिन रात एक ही बात बोलता था।गर्मियों के ख़त्म होते ही हम शादी करेगें।ये सुन कर थांबलीना उदास हो जाती थी।उसे छुछुंदर से शादी नहीं करनी थी।
Fairytale stories🐐
पतझड़ के शुरू हो गया था। थम्बलीना  के कपड़े लगभग तैयार थे। चूहे ने उसे बताया की चार हफ्ते बाद उसकी शादी है।
ये सुन कर वो रोने लगी उसने चूहे से कहा क़ि वो इस शादी  के लिए तैयार नही हैं।
चूहे ने कहा बेवकूफ मत बनो। जिद्द मत करो वर्ना मै तुम्हें अपने सफ़ेद तेज़ दांतो से काट खाऊँगा। छुछुंदर बड़ा रिच और हैंडसम  है।उसका घर अनाज से भरा हुआ है। वो तुम्हे रानियों जैसे कपडे पहनायेग इसलिये वही तुम्हारे लिए सही है। तुम्हे एक अच्छे भविष्य के लिये मेरा शुक्रगुजार होना चाहिए।

शादी का दिन फ़िक्स हो चुका था।अब कुछ ही दिनों में छछूंदर उसे अपने जमीन के नीचे बने घर में ले जाने वाला था।वो सूरज की रौशनी देखने को भी तरस जायेगी क्योंकि छछूंदर को ये पसंद नहीं थी।
वो उदास सी दरवाजे पर खड़ी हो जाती और मन ही मन कहती " अलविदा डिअर सन "

मकई कट चुकी थी। खेत में ठूठ रह गए थे। वो मन ही मन इच्छा करती काश उसे छोटी चिड़िया दिख जाये।तभी उसे ऊपर चिड़िया की आवाज़ सुनाई दी। थांबलीना की ख़ुशी का ठिकाना ना रहा।उसने अपनी शादी की सारी बात चिड़िया को बता दी।
🐑kids stories🐎
चिड़िया बोली मै यहाँ से गर्म देश में जा रही हूँ अगर तुम जाना चाहो तो बेठो मेरी पीठ पर।थांबलीना तुरंत चिड़िया की पीठ पर बैठ गई।चिड़िया गांव,क़स्बा,शहर और समुन्द को पार कर के एक ऐसे गर्म देश में पहुँची जहाँ सूरज की चमकदार रौशनी चारो तरफ बिखरी हुई थी।ऊची ऊची इमारते थी। बच्चे खेल रहे थे। फलों से लदे हुये पेड़ थे।चारो तरफ खुशबू बिखरी हुई थी। सब कुछ बहुत सुहाना था।थांबलीना ख़ुशी से ताली बजाने लगी।

चिड़िया ने थांबलीना को एक बहुत सुन्दर फूल पर उतार दिया पर ये क्या ? ये तो एक थम्बलीना जैसा ही सुन्दर और छोटा राजकुमार था। जिसके छोटे छोटे पंख थे।जो क्रिस्टल जैसा चमकदार था।
Fairytale stories in hindi🐩
राजकुमार ने थांबलीना को देखा तो वो भी बहुत खुश हुआ।वो वहाँ खिले हुये सारे फूलो के बाग़ का राजकुमार था। उसने थांबलीना से पूछा। क्या वो उस से शादी करेगी ? थांबलीना ने देखा वो प्यारा सा राजकुमार उस बदसूरत मेढ़क और छछूंदर से कहीं ज्यादा पयारा था और बिल्कुल उसके जैसा था।

राजकुमार ने थांबलीना को एक गोल्डन क्राउन दिया। थांबलीना ने शादी के लिए हां कर दी।सब फूलो और पंछियों ने ताली बजाई। चिड़िया ने सुन्दर सा वेडिंग सांग गया लेकिन वो उदास थी क़ि अब वो थांबलीना की लाइफ का हिस्सा नहीं रहेगी।वो उसे बहुत पसंद करने लगी थी।
Kids short stories. kids bedtime stories.👍
सभी ने कोई न कोई उपहार उसकी शादी में दिया मगर सब से प्यारा था एक पंखो का जोड़ा जिसे पहन कर थांबलीना एक फ़ूल से दूसरे फूल पर उड़ सकती थी।वो बहुत खुश थी।

चिड़िया ने भारी मन से दोनों राजकुमार और प्यारी थांबलीना जिसका नाम अब " मिया" रख दिया गया था से बिदाई ली और उड़ चली ऊँचे नीले आसमान में डेनमार्क के एक सफेद सूंदर घर की खिड़की ने अपना घर बनाने के लिये।
                                                                समाप्त।
हिंदी अनुवादित रचना (सीमा खन्ना)
Kids short stories

Post a comment

0 Comments